परीक्षा में अच्छे अंक कैसे प्राप्त करें। How To Get Good Marks In Exam

दोस्तों परीक्षा (Exam) किसी भी प्रकार की क्यों न हो, हर व्यक्ति का सपना होता है की वह उस परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करे। लेकिन परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए आपको अपनी पढ़ाई, अभिरुचि, पढ़ाई का तरीका, एकाग्रता, समय प्रबंधन (Time Management) जैसे कई बातो का ध्यान रखना होंगा। परीक्षा के दृष्टिकोण से इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की परीक्षा में अच्छे अंक कैसे प्राप्त करें (How To Get Good Marks In Exam), तो आप भी जानना चाहते है की परीक्षा में प्रथम कैसे आये (exam me top kaise kare), परीक्षा में सफलता हेतु मंत्र (pariksha me safalta ke upay), तो इस पोस्ट को पूरा और ध्यान से पढ़े और इसका अनुसरण करे।

How To Get Good Marks In Exam परीक्षा में अच्छे अंक कैसे प्राप्त करें।

दोस्तों परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करना या इस प्रतिस्पर्धा (Competition) के समय में अपने आप को सर्वश्रेष्ठ साबित करना इतना आसान नहीं है। इसके लिए आपको कड़ी मेहनत और कई छोटी-बड़ी बातो को ध्यान में रखने की जरूरत है। तभी आप परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते है। निचे हम आपके साथ परीक्षा में अच्छे अंक लाने के लिए कुछ टिप्स साँझा कर रहे है। आप इन्हे जरूर ध्यान में रखे।

कितने घंटे करनी चाहिए पढ़ाई ?

अक्सर पढ़ाई लिखाई करने वाले स्टूडेंट या परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों के मन में यह सवाल होता है की आखिर पढ़ाई कितने टाइम करनी चाहिए। एक दिन में कितने घंटे पढ़ाई करनी चाहिए ? (how to study in a day for exam) ऐसे छात्रों को मै कहना चाहूंगा की, यह बात महत्त्व नहीं रखती की आपको कितने घंटे पढ़ना चाहिए। हमत्व यह रखता है की कब और कैसे पढ़ना चाहिए।

यदि आपने 12-15 घंटे पढ़ाई की, और आपका शरीर थके, मानसिक रूप से आप थकान महसूस करे तो अगले दिन आप या तो इतने टाइम पढ़ाई नहीं कर पायेंगे। या यदि पढ़ाई कर भी ली तो आपको पढ़ा हुआ याद नहीं रहेंगा। अतः आपको चाहिए की आप भले कम समय के लिए पढ़े लेकिन अपना पूरा ध्यान पढ़ाई में लगाये। शारीरिक और मानसिक रूप से पढ़ाई के लिए, पढ़ते समय सक्रीय रहे।

Useful Posts :

पढ़ाई में मन नहीं लगे, उस समय क्या करे ?

यदि आप पढ़ रहे हैं व आपका मन नहीं लग रहा है तो फौरन पढ़ना बंद कर उठ जाइये। अपना पसंदीदा संगीत सुनें, पसंदीदा खेल खेले, कुछ समय घूम लें। हाथ, पैर, मुंह धो लें फिर आप पढ़ने बैठ जाइये, यदि आप यह महसूस करते हैं कि आपकी स्मरण शक्ति कुछ कमजोर है तो लिख – लिख कर याद कीजिये। मुख्य – मुख्य बिन्दुओं को याद करें। एक बार पढ़ लें, उसके बाद पुस्तक बंद कर उसके बिन्दुओं को लिखने का प्रयास कीजिये। किसी टॉपिक पर आपको कुछ समझ नहीं आ रहा है तो, अपने टीचर या सीरियर्स या सहपाठियों से उसके बारे में पूछे।

पढ़ने के लिए किस तरह की पुस्तकों (Books) का प्रयोग करे ?

आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने और पढ़ने के लिए कभी भी शॉर्टकट बुक्स जैसे वन डे सीरीज, गेस पेपर, कुंजी, IMP क्विज को नहीं पढ़ना चाहिए। हमेशा अपने पाठ्यक्रम की मूल पुस्तको से स्लेबस (Syllabus) के अनुसार पढ़ाई करना चाहिए। यदि आप क्लास या कोचिंग जाते हो तो आपको, आज के पाठ्क्रम को पढ़कर जाना चाहिए और वापस आकर उसे दोबारा पढ़ना चाहिए, जिससे वह आपको आसानी से समझ में आये। ऐसा करने से आप इसे ज्यादा लम्बे समय तक याद रख पाएंगे।

पढ़ने की जगह (अध्ध्यन कक्ष) कैसा होना चाहिए।

जब भी आप पढ़ने बैंठे तो यह बात याद रखे कि यदि आपका अध्ययन कक्ष अलग है तो कोई बात नहीं अन्यथा शांत , हवादार , स्थान पर पढ़ने बैठें। घर के सदस्यों को चाहिये कि जब भी बच्चे पढ़ रहे हों तो उन्हें किसी कार्य के लिये आवाज न दें, कोई बहुत ही आवश्यक कार्य हो तो ही उन्हें डिस्टर्ब करें क्योंकि इससे उनकी एकाग्रता नष्ट होती है, पढ़ाई में व्यवधान होता है। जहां तक संभव हो पढ़ते समय हमेशा टेबल – कुर्सी का ही इस्तेमाल करें। कभी भी लेटे – लेटे हुए नहीं पढ़ना चाहिये । लेटे – लटे पढ़ने से नींद आने की ज्यादा संभावना रहती है जबकि बैठकर पढ़ने में स्फूर्ति बनी रहती है ।

अपने स्लेबस (Syllabus) से जुडी परीक्षाओ में भाग लेना चाहिए।

यदि आप किसी परीक्षा (Exam) की तैयारी कर रहे है। और आपकी तैयारी पूरी नहीं हुई है। या आप किसी क्लास, जैसे 10th या 12th में है तब भी आपको आपने स्लेबस (Syllabus) से जुडी परीक्षाओ में भाग लेना चाहिए। जिससे आपको अनुमान हो सके की आपकी तैयारी कैसे चल रही है। क्या आपको अपनी तैयारी में और सुधार करने की जरुरत है। किस विषय में आपकी क्या स्थति है, आदि। इसलिए जरुरी है की आप पाठ्यक्रम (Syllabus) से जुडी परीक्षा देते रहे। या खुद ही सप्ताह में एक दिन अपने पढ़ाई का टेस्ट जरूर ले।

Useful Posts :

परीक्षा के दिनों में क्या करना चाहिए।

परीक्षा के दिनों में आपको, परीक्षा के सम्बन्ध में अनावश्यक चिन्ता व घबराहट, हड़बड़ाहट या तनाव नहीं रखना चाहिये। परीक्षा के दिनों में अधिक समय तक (अर्थात देर रात तक) जागने का प्रयास न करें। निर्धारित समय पर सो जायें, परीक्षा देने जाने से एक घण्टे पूर्व पुस्तकों को छोड़ देना चाहिये, कुछ विद्यार्थी तो परीक्षा भवन तक पुस्तकें इत्यादि ले जाते हैं जो कि गलत तरीका है। इससे व्यर्थ का ही दिमाग पर बोझ रहता है। अतः पुस्तकों को एक घण्टे पूर्व छोड़ देना चाहिये। अपना ज्यादा से ज्यादा समय पढ़ाई पर देना चाहिए। व्यर्थ का घूमना – फिरना, मोबाईल और टेलीविसन से दूरिया बना कर रखना चाहिए।

पेपर के दिन, परीक्षा के पूर्व की तैयारी कैसे करे ?

परीक्षा देने जाने से पूर्व सभी आवश्यक वस्तुएं , अनुमति पत्र , पेन , रबड़ , पेंसिल , स्केल आदि साथ ले जायें । परीक्षा में एक दो अतिरिक्त पेन ले जाना चाहिये। पेन में रोजाना स्याही भर लेना चाहिये। वैसे तो आजकल रिफिल पेन का ही अधिक इस्तेमाल होने लगा है। स्याही के पेन तो अब बहुत ही कम प्रयोग किये जाते हैं। परीक्षा के तुरंत पहले, ज्यादा से पढ़ने की कोशिस नहीं करनी चाहिए। परीक्षा के एक घंटे पहले से ही रिलेक्स और शांत महसूस करने का प्रयास करना चाहिए।

पेपर के अंतराल में क्या करे ?

कई बार एक पेपर से दूसरे पेपर के मध्य 3-4 दिन का अन्तराल आ जाता है, तो कई छात्र उस दिन नहीं पढ़ते हैं। किन्तु यह तरीका गलत है। पहले पेपर के बाद 3-4 घण्टे आराम के बाद पुनः पढ़ना प्रारम्भ कर देना चाहिये। परीक्षा के दिनों में 2-3 दिन का अन्तराल भी बहुत ही मायने रखता है, अतः समय का पूरा उपयोग करें। यदि आपका प्रथम पेपर बिगड़ भी गया हो तो उसका पश्चात्ताप करना व्यर्थ है, जो हो गया है वह चाहे कितना ही अच्छा या बुरा क्यों न हो उसका कुछ नहीं किया जा सकता है, अतः उसकी चिन्ता किये बिना अगले पेपर की अच्छे से तैयारी करें, कई बार तो दूसरा पेपर पहले पेपर की कसर पूरी कर देता है। इसलिए पहले पेपर के बारे में सोचना बंद कर अगले पेपर पर ध्यान देना चाहिए।

प्रश्न पूछने में संकोच न करे।

छात्र – छात्राओं को पढ़ते समय जो बात समझ में न आये, उसे बिना किसी संकोच के अपने अध्यापकों (Teachers) से पूछ लेना चहिये। कहा जाता है कि “अज्ञान को छिपाने से वह हमेशा बढ़ता है, घटता नहीं है”, अतः अपनी शंका का निवारण कर ही लेना चाहिये। इसके लिए आप अपने अध्यापको, सीनियर्स आदि की मदद ले सकते है।

पढ़ते समय क्या नहीं करना चाहिए ?

बहुत से छात्र पढ़ते समय संगीत सुनते है, कमेंट्री सुनते हैं जोकि गलत तरीका है। एक समय में एक ही कार्य करें तब ही आपकी पढ़ाई के प्रति एकाग्रता बनी रह पाती है। ज्यादा शोर होने वाली जगहों पर बैठकर पढ़ाई न करे। कोशिश करे की आप जहा पढ़ रहे हो वह जहग शांत और हवादार हो। जबतक आप पढ़ाई कर रहे हो तबतक, बार – बार मोबाइल या टेलीविजन पर ध्यान न दे। यदि संभव हो तो पढ़ने के लिए टेबल और कुर्शी का प्रयोग करे। कभी भी लेटे -लेटे नहीं पढ़ना चाहिए, इससे नींद और आलस जल्दी आने की सम्भावना होती है।

परीक्षा में अच्छे नंबर कैसे लाएं (How To Get Good Marks In Exam)

परीक्षा में अच्छे प्राप्तांक लाने में न्यू टाइप अथवा लघु प्रश्न बहुत ही सहायक होते हैं। कुछ प्रश्न ऐसे होते है, जो घुमा – फिरा कर हर वर्ष पूछे जाते है उन्हें अच्छे से तैयार करे। आपको पाठ्य पुस्तक से परीक्षा की पूरी तैयारी करना चाहिये, ताकि पुस्तक में से किसी भी स्थान पर से कुछ पूछा जाये तो उत्तर देने में आपको परेशानी न हो। इससे आपको प्रत्येक बात ध्यान रहती है। परीक्षा हाल में प्रश्न पत्र मिलते ही शुरू हो जाना गलत है। पूरे प्रश्न पत्र को ध्यान से पढ़ना चाहिये, उसमें दिये गये निर्देशों को भली भांति पढ़ें व उनका पालन करें।

प्रश्नों को हल करते समय टू दी प्वाइंट जवाब दें, अलग – अलग बिन्दुओं में सभी बातों का जवाब दें। इससे आपको लिखने में व जांचकर्त्ता दोनों को काफी सुविधा रहती है तथा प्राप्तांक भी अच्छे पाने की संभावना रहती है। गणित आदि के प्रश्नों को हल करते समय यह ध्यान रहे कि, रफ कार्य कापी के अन्त में करें। यदि आप यह महसूस करते हैं कि प्रश्नों का उत्तर बहुत ही विस्तृत है एवं पूरा लिखने पर समय हो सकता है, तो महत्वपूर्ण व सारगर्भित बातों को लिखकर प्रश्नों को समयानुसार समाप्त कर देना चाहिये।

आपकी स्वच्छ सुन्दर एवं अच्छी लेखनी परीक्षक का ध्यान आपकी ओर आकर्षित कर लेती है। अतएव साफ व स्वच्छ व सुंदर लिखने की आदत डालें, यदि आपकी लेखनी कटी-पीटी व गंदी है, तो परीक्षक चाहते हुए भी पूरा उत्तर नहीं पढ़ सकेगा और आपको कम नंबर देंगा। अतः प्रारम्भ से ही इस तरफ ध्यान देना चाहिये। यदि आपसे किसी प्रश्न को पूछते समय कोई शब्द सीमा दी गयी है तो शब्द सीमा के अनुसार ही लिखें। बहुत से छात्र गत वर्ष पूछे गये प्रश्नों को छोड़ देते हैं, कि पिछले वर्ष जो प्रश्न पूछे गये है। अतः इस वर्ष नहीं पूछे जायेंगे, यह गलत धारणा है। महत्वपूर्ण प्रश्न तो हर वर्ष घुमा फिरा कर पूछ लिये जाते हैं अतः तीन – चार वर्षों के पूर्व के प्रश्न पत्र देखकर ही तैयारी करनी चाहिये।

Useful Posts :

परीक्षा में अच्छे अंक (Get Good Marks In Exam) प्राप्त करने के लिए आपको ऊपर बताई गई बातो के अलावा निचे बताये गये परीक्षा में सफलता के उपाय (pariksha me safalta ke upay) भी आपको ध्यान में रखना चाहिए।

  • सकारात्मक सोच रखे – आपको अपनी पढ़ाई और परीक्षा के प्रति सकारात्मक सोच रखनी चाहिए। और अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते रहना चाहिए। इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की बड़ी परीक्षाओ में बहुत कम लोग ही सफल होते है। और आपको उनमे से एक बनना है। इसलिए आपको अपनी सोच को सकारात्मक रखना जरुरी है।
  • टाइम मॅनॅग्मेंट करे – आपको अपनी पढ़ाई करते समय टाइम मैनेजमेंट (Time Management) करना चाहिए। यहाँ कई लोग टाइम मैनेजमेंट (Time Management) को टाइम टेबल (Time Table) से जोड़ कर देखते है। लेकिन यह दोनों चीज़े अलग – अलग है। अपने टाइम का सही उपयोग करना आपको आना चाहिए। अपने पसंदीदा खेल, म्यूजिक, आदि सभी जरुरी है। लेकिन ऐसा न हो की इनके चक्कर में आप अपना कीमती समय बर्बाद कर रहे हो। इस बात का विशेष ध्यान रखे।
  • नोट्स बनाकर पढ़े – बेहतर होंगा यदि आप अपनी खुद की नोटबुक बनाकर पढ़ाई करे। क्योकि हर व्यक्ति का पढ़ाने का, समझाने का तरीका अलग – अलग होता है ऐसे में यदि आप अपनी खुद की नोट्स बना कर पढ़ते है। तो आपका पढ़ाई रिवीजन भी होगा, पढ़ा हुआ याद भी होगा और हस्तलिपि में भी सुधार आयेंगा।
  • रिविज़न करे – आपको जो भी पढ़ना है या पढ़ाया गया है, उसका रिवीजन करना जरुरी है। मानव मस्तिष्क में कई बाते प्रतिदिन आती है, लेकिन वही याद रह पाती जो आपको कुछ अलग लगे, पसंद आये या आपने रिवीजन की हो। इसलिए पढ़ाई के ऐसे तरीके अपनाये जिससे पढ़ाई में मन लगे और जो पढ़ाई की है उसे रिवीजन जरूर करे।
  • सेहत का ख्याल रखे – पढ़ाई के साथ – साथ अपनी सेहत का ख्याल जरूर रखे। ज्यादा टाइम पढ़ने के चक्कर में अपनी तबियत ख़राब न कर ले, क्योकि इससे आपको ज्यादा ही नुकसान होगा। तबियत ख़राब होने के कारण पढ़ाई में व्यवधान होगा। इसलिए अपनी सेहत का ख्याल जरूर रखे।
  • दुसरो से तुलना न करे – कई बार हम किसी के रिजल्ट देखकर या अपने रिजल्ट देखकर, दुसरो से तुलना करने लगते है। तो आप ऐसा न करे, जरुरी नहीं है की जितने टाइम वह पढ़े, उतने टाइम ही आप भी पढ़े। सबका अपना अपना पढ़ने का तरीका अलग-अलग होता है। किसी को फॉलो करने से पहले या किसी से तुलना करने से पहले, आप अपने बारे में सोचे, की आप उन बातो पर कितना खरे उतरते है।
  • खुद पे भरोसा रखे – खुद पे भरोसा रखना जरुरी है। यदि आपको खुद पे भरोसा नहीं होगा तो आप कुछ भी नहीं कर पाएंगे। इसलिए खुद पे भरोसा रखो और प्लान के हिसाब से पढ़ाई करते रहो।
  • पर्याप्त नींद ले – पढ़ाई के अलावा आपको पर्याप्त नींद लेना भी जरुरी है। ताकि जब आप नींद लेकर उठे तो आपका शरीर और दिमाग दोनों ताजा महसूस करे ताकि आप जो नया पढने जा रहे हो, वो आपको लम्बे समय तक आसानी से याद हो सके।
  • पोस्टिक भोजन और व्यायाम करे – आपको चाहिए की प्रतिदिन ,समय से और पोस्टिक भोजन ग्रहण किया जाये। ताकि शरीर को सभी जरुरी पोस्टिक आहार मिलते रहे। इसके अलावा आपको सुबह-शाम 15-20 मिनट व्यायाम या योगा जरूर करना चाहिए। जिससे आपकी शारीरिक और मानसिक शक्ति बढ़ती है, आलस कम होता है।

Exam Ki Taiyari ke Tips In Hindi प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे ?

दोस्तों उम्मीद करता हूँ आज की इस पोस्ट में दी गई जानकारी – परीक्षा में अच्छे अंक कैसे प्राप्त करें। How To Get Good Marks In Exam आपको पसंद आई होंगी। यदि ये पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ साँझा जरुरु करे और ऐसे ही एजुकेशन (Education) और कैरियर टिप्स (Carrier Tips) के लिए हमारे ब्लॉग https://www.jobfuture.in/ पर विजिट करे। और आपके कोई सवाल हो तो निचे कमेंट्स जरुर करे।

यह भी पढ़े :

10 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!