Diploma kya hota hai ? डिप्लोमा के बाद जॉब, डिग्री और भविष्य की जानकारी

दोस्तों आप किसी अच्छे जॉब की तलाश कर रहे है या भविष्य में एक अच्छी नौकरी पाना चाहते है। तो आपको 10+12th के साथ अपने कॅरियर सम्बन्धी विषय के साथ कम से कम डिप्लोमा कोर्स जरूर करना चाहिए। अब यदि आप यह नहीं जानते है की Diploma kya hota hai ? डिप्लोमा क्या होता है ? डिप्लोमा के बाद जॉब, डिग्री और अपने भविष्य में डिप्लोमा कैसे काम आता है या डिप्लोमा कोर्स करने के क्या फायदे है, तो आपको यह पोस्ट जरूर पढ़नी चाहिए। तो आइये जानते है डिप्लोमा (Diploma) के बारे में जानकारियाँ।

Diploma kya hota hai ? डिप्लोमा क्या होता है ?

डिप्लोमा (Diploma) किसी कॉलेज (Collage) या university के द्वारा किया गया ऐसा सर्टिफिकिट होता है। जो बताता है की डिप्लोमा होल्डर ने किस विषय (subject) में पढ़ाई पूरी की है। डिप्लोमा किसी विशेष subject में किया जा सकता है, और इसके लिए विषय चुनने का भी विकल्प डिप्लोमा करने वाले व्यक्ति के पास होता है।

आप किसी कॉलेज (Collage) से डिप्लोमा कोर्स (Diploma कोर्स) करना चाहते है। तो आप अपनी रूचि, अपने पसंदीदा विषय, अच्छे भविष्य ऑप्शन, अपने गोल और अपनी अच्छी पकड़ वाले subject को चुन सकते हो। चाहे वह Computer Operator diploma का कोर्स हो या Engineering diploma. आप ऐसे कई फिल्ड में डिप्लोमा (Diploma) कर सकते हो। किस subject में diploma Course करना आपके लिए फायदेमंद होगा। यह चुनाव करने के बाद आप उस subject में आसानी से diploma कोर्स कर सकते है। diploma कोर्स का चयन करते समय आपको अपने इंट्रेस्ट का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। कहने का मतलब की आप जिस फिल्ड में अपना कॅरियर बनाना चाहते है उसे ध्यान में रखते हुए diploma का subject चुने तो आपको आसानी होंगी।

डिग्री और डिप्लोमा में क्या अंतर होता है (What is the difference between degree and diploma?)

किसी भी विषय (subject) में मास्टर डिग्री, PHD पीएचडी करने के लिए ग्रेडुएशन (Graduation) करना आवश्यक होता है। यदि आप हाई एजुकेशन लेना चाहते हो तो आपके पास डिग्री होना जरूरी है डिग्री हर subject में अधिक सटीकता से कराई जाती है ताकि स्टूडेंट को subject से जुडी छोटी-छोटी जानकारी भी दी जा सके। इसलिए डिग्री कोर्स पूरा करने में समय ज्यादा लगता है। एक डिग्री कोर्स 2 से 5 साल में पूरा किया जाता है। डिग्री कोर्स में डिप्लोमा के मुकाबले कम प्रेक्टिकल होते है। theory पर ज्यादा ध्यान होता है।

जहा तक diploma की बात है, तो diploma कोर्स किसी इस्पेशल subject के बारे में पढ़ाया जाता है। इसका duration टाइम कम होता है। इस दौरान किसी भी प्रोफेशन व बिजनेस के बारे में जानकारी दी जाती है। इसमें कुछ दिन जॉब वर्क या अनुभव भी करवाया जाता है। यह उस subject पर निर्भर होता है की कितने टाइम स्टडी, ट्रेनिंग करनी है। कुछ diploma कोर्स 6 महीने में पुरे हो जाते है। वही कुछ डिप्लोमा (Diploma) कोर्स को करने में 1 से 2 वर्ष तक लगते है। डिप्लोमा में डिग्री के मुकाबले ज्यादा ज्यादा प्रेक्टिकल होते है और काम का अनुभव ज्यादा होता है।

डिप्लोमा कोर्स के बाद जॉब !

डिप्लोमा कोर्स कर लेने के बाद सम्बंधित subject में जॉब के लिए आसानी से एप्लाई किया जा सकता है। जैसे की आपने कंप्यूटर में डिप्लोमा किया है तो आप कंप्यूटर से जुड़े जॉब्स के लिए अप्लाई कर सकते है। और यदि आपने इंजीयरिंग कोर्स में डिप्लोमा किया है तो आप इंजीयरिंग से जुडी अपनी फिल्ड की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते है।

डिप्लोमा कोर्स की खास बात यह है की आप 8th तक ही पढ़ाई कर पाये और आगे नौकरी करना चाहते हो तो आप अपनी समझ और रूचि के अनुसार सम्बंधित subject में diploma कोर्स कर सकते है। जिससे की आप को जॉब मिल सके। जैसे की वायरमेन, कारपेंटर, प्लास्टिक पेंटर ऑपरेटर, आदि।

इसी तरह 10th लेवल के बाद आर्ट, डीजल मेकनिकल, इलेक्ट्रानिक, टूल एंड ड्राय मेकर, Computer Operator and Programing, इसके आलावा भी अलग-अलग एजुकेशन के लेवल के अनुसार diploma कोर्स कर सकते है। जैसे की – Advanced Electronics, Baker And Confectioner, Desktop , Publishing , Operator, Electro logy, Instrument Mechanic , Metrology And Engineering , Mechanic, Computer Hardware जैसी कई सब्जेक्ट में आप डिप्लोमा (Diploma) कोर्स कर सकते है।

कहने का आशय यह है की आप किसी एक सब्जेक्ट में डिप्लोमा कोर्स कर के जॉब प्राप्त कर सकते है। कुछ फिल्ड में तो डिप्लोमा को डिग्री से ज्यादा महत्त्व दिया जाने लगा है। इसका एक कारण यह भी है की, डिप्लोमा कोर्स में स्टूडेंट को थ्योरी के बजाय प्रेक्टिकल ज्यादा करवाए जाते है। जिससे की उन्हें काम का अनुभव ज्यादा होता है।

डिप्लोमा (Diploma) कोर्स करने के फायदे |

  • यदि आपने अपनी रूचि के अनुसार diploma कोर्स किया है। और अब आप अपनी फिल्ड में प्रोफेसर है तो, आपको जॉब के दौरान अच्छी सैलरी मिल सकती है।
  • डिप्लोमा कोर्स करने में आपको डिग्री या ग्रेडुएशन के मुकाबले कम समय लगता है। आप अपनी फिल्ड के अनुसार 6 month, 1 या दो वर्ष में अपना डिप्लोमा कोर्स पूरा कर सकते है। यह आपको अधिक साल बर्बाद करने की जरुरत नहीं है।
  • डिप्लोमा कोर्स (Diploma Course) करने में आपको अपेक्षाकृत कम खर्चा आता है।
  • ज़्यदातर डिप्लोमा कोर्स साल में 2 बार प्रवेश का मौका देते है। ऐसे में आप अपना साल बर्बाद होने से बचा सकते है। और किसी डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेकर अपना डिप्लोमा कोर्स कर सकते है।
  • आप पार्ट टाइम में भी किसी कॉलेज से डिप्लोमा कोर्स कर सकते है।
  • जॉब के हिसाब से देखा जाये तो कुछ फिल्ड में डिग्री के मुकाबले, डिप्लोमा को ज्यादा मान्यता दी जाती है। क्योकि यहाँ आपको प्रेक्टिकल भी सिखाया जाता है।
  • एक डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आप सम्बंधित फिल्ड में जॉब के अलावा, सरकारी नौकरी, खुद का वर्कशॉप, खुद का सम्बंधित फिल्ड में बिज़नेस भी कर सकते है।

डिप्लोमा कोर्स करना चाहिए या डिग्री कोर्स

दोस्तों यदि पोस्ट को आपने यहाँ तक ध्यान से पढ़ा होंगा तो आप समझ चुके होंगे की diploma course kya hota hai ? अब एक सवाल आपके मन में जरूर होगा की आपको डिप्लोमा कोर्स करना चाहिए या डिग्री कोर्स। दोस्तों इसका जवाब आपके पास ही है। ये आपको तय करना है की आपका गोल क्या है ? आप किस फिल्ड में कौनसी जॉब करना चाहते है ? यदि आप अपनी खुद की वर्कशॉप, शॉप खोलना चाहते है, जल्दी नौकरी करना चाहते है, आप 8th या 10th ही पढ़े है। बिच में पढ़ाई छोड़कर आगे अब और पढ़ाई करना चाहते है, तो ऐसे में आपको डिग्री कोर्स के बजाय डिप्लोमा कोर्स करने में फायदा होगा। डिप्लोमा कोर्स करने के बाद भी आप डिग्री कोर्स आसानी से कर सकते है। तो दोस्तों ये आपके गोल, आपकी फिल्ड और रूचि पर निर्भर करता है की आपको डिग्री कोर्स करना चाहिए या डिप्लोमा (Diploma) कोर्स करना चाहिए। आपको ये जरूर ध्यान रखना चाहिए की सरकारी नौकरी या कुछ बड़ी कम्पनियो में अच्छे पोस्ट के लिए डिग्री की डिमांड होती है।

दोस्तों उम्मीद करता हूँ आज की इस पोस्ट में दी गई Diploma kya hota hai ? डिप्लोमा क्या होता है ? डिप्लोमा के बाद जॉब, डिग्री , डिप्लोमा कोर्स के फायदे जैसी जानकारी आपको पसंद आई होंगी।

READ MORE :

5 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!