E RuPi Kya Hai ? कैसे काम करेंगा ई-रूपी, Digital Payment और फायदे

दोस्तों हाल ही में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की ओर से 2 अगस्त 2021 से E RuPi का नया प्लेटफॉर्म E RuPi Cryptocurrency Digital payment की शुरुआत की है। यह एक UPI (Unified Payments Interface) की तरह कार्य करने वाला पेमेंट ऑप्शन होगा। इसके इस्तमाल से चोरी, ठगी और करेप्शन में कमी आएँगी। आइये विस्तार से जानते है की E RuPi Kya Hai ? इसके क्या फायदे होँगे। डिजिटल पेमेंट के लिए इ रूपी कैसे काम करेंगा (how to use e-rupi digital payment) आदि E rupi के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियाँ।

E RuPi Kya Hai ई-रूपी क्या है ?

E-Rupi असल में UPI का एक एडवांस वर्ज़न है। जैसा की आपको पता होगा और आप UPI को सालो से उपयोग में ला भी रहे होंगे। UPI का मतलब होता है Unified Payments Interface जो 11 अप्रेल 2016 से उपयोग में लाया जा रहा है। यह ट्रांजेक्शन NPCI (National Payments Corporation of India) के द्वारा मैनेज किये जाते है।

कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस भुगतान के नए टूल के रूप में ई-रुपी (E RuPi) का शुभारंभ किया गया है। ई-रुपी एक डिजिटल वाउचर है। जो एक लाभार्थी को उसके फोन पर SMS या QR कोड के रूप में मिलेंगा। और उस QR Code या SMS को वह व्यक्ति उसी काम के लिए उपयोग कर पायेंगा, जिस काम के लिए इस SMS या QR के जरिये भुगतान होना है। उदाहरण के लिए यदि सरकार किसी व्यक्ति का किसी खास अस्पताल में विशेष इलाज का खर्च उठाना चाहती है, तो वह एक पार्टनर बैंक के जरिए निर्धारित राशि के लिए ई-रुपी का वाउचर जारी कर सकेगी. कर्मचारी को उसके फीचर फोन/स्मार्ट फोन पर एसएमएस या क्यूआर कोड मिलेगा. वह तय अस्पताल में जा कर उसकी सर्विसेज का लाभ उठा सकेंगा। जिन व्यक्ति के पास स्मार्ट फ़ोन नहीं है ऐसे स्थति में उन्हें QR कोड की जगह SMS पर e rupi की सुविधा का लाभ दिया जा सकेंगा।

E-Rupi कैसे काम करता है।

E-Rupi किसी स्पेसल कार्य के लिए निर्धारित रकम का भुगतान करने के लिए उपयोग में लाया जाता जाता है। यह QR Code या SMS में एक लिंक होता है जिसका उपयोग कर के आसानी से भुगतान किया जा सकता है। जैसे की सरकार किसी को, किसी योजना के अंतर्गत राहत सामग्री प्रदान करती है या राहत राशि देना चाहती है ऐसे में कई बार राहत राशि या सामग्री बीच में से ही गायब हो जाती है। कई तरह का फर्जीवाड़ा हो जाता है या सामग्री की क्वालिटी में अंतर आ जाता है। कुल मिलाकर उस व्यक्ति को वह लाभ नहीं मिल पाता जिसके लिए पैसे लागु किये गए है।

लेकिन अब E-Rupi के जरिये जिस व्यक्ति को लाभ देना होंगा उसके नाम से ही एक SMS या QR कोड के जरिये पैसे भेजे जायेंगे। और वह SMS या QR उस योजना से संबधित दुकानों, ऑफिसों या व्यक्तियों के पास ही भुगतान हो पायेंगा। जैसे की उदाहरण के लिए यदि सरकार किसी व्यक्ति का किसी खास अस्पताल में विशेष इलाज का खर्च उठाना चाहती है, तो वह एक पार्टनर बैंक के जरिए निर्धारित राशि के लिए ई-रुपी का वाउचर, SMS या QR के जरिये जारी किया जायेंगा। और वह तय अस्पताल में जा कर उसकी सर्विसेज का लाभ उठा सकेंगा। यदि लाभार्थी या अस्पताल से यदि इस SMS या QR कोड का कंही और उपयोग करना चाहे तो यह काम नहीं करेंगा। जिससे चोरी, ठगी, करेप्शन, फर्जीवाड़ा नहीं हो पायेंगा।

E – RUPI का इस्तमाल कैसे करे

ई-रूपी उपयोग करने के लिए आपको किसी भी प्रकार के एंड्राइड मोबाइल, इंटरनेट, डिबिड कार्ड, एटीएम या किसी एप्प की जरूरत नहीं है। ई -रूपी एक साधारण यानि की, कीपैड मोबाइल के माध्य्म से भी कर सकते है। E RuPi इस्तमाल करने के लिए एक बाउचर बनना पड़ेगा और बाउचर को आप जिस व्यक्ति को पैसा ट्रांसफर करना है उस व्यक्ति को SMS या QR कोड के जरिये ट्रांसफर करना पड़ेगा। जब व्यक्ति उस बाउचर का इस्तमाल करेगा। उसके एकाउंट में पैसा डिपोजिट हो जायेंगे।

ई-रूपी के फायदे –

  • सरकार के मुताबिक ई-रूपी (E RuPi) के जरिए कल्याणकारी योजनाओं को बिना किसी समस्या के लागु किया जा सकेगा।
  • digital payment को बढ़ावा मिलेंगा।
  • इसका इस्तेमाल मदर एंड चाइल्ड वेलफेयर स्कीम्स, टीबी उन्मूलन कार्यक्रम, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत दवाइयां और खाद सब्सिडी इत्यादि योजनाओं के तहत सर्विस उपलब्ध कराने के लिए भी किया जा सकेगा।
  • सरकार के मुताबिक निजी सेक्टर भी अपने एंप्लाई वेलफेयर व कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी प्रोग्राम्स के तहत इन डिजिटल वाउचर्स का उपयोग कर सकती है।
  • e-RuPi के स्तमाल से करेप्शन और फर्जीवाड़े में कमी आएँगी।
  • सबसे बड़ा फायदा यह है की इसमें किसी भी प्रकार के मोबाइल से SMS के द्वारा एक मोबाइल से दूसरे मोबाईल पर किसी व्यक्ति को SMS कर के पैसा ट्रांसफर कर सकते है। इसका उपयोग साधारण व्यक्ति भी कर सकता है।

E-rupi Customer Care number

Customer Care number आपको जल्दी NPCI की साइड पर उबलब्ध करा दिया जायेगा ताकि आपको किसी प्रकार की समस्या होने पर आप तुरंत अधिकारियो से बात कर सके।

E-Rupi सुरक्षित है या नहीं ?

जी हा, दोस्तों अगर आप बात करे, की पैसे को हम किसी भी प्लेटफार्म जैसे : इंटरनेट बैंकिंग phone pay, google Pay, डाक-पे आदि को जब हमने शुरू में इस्तमाल किया था तो हमें यह दर था की यह एप्प सुरक्षित है या नहीं। उसी प्रकार से दिनांक 02/08/2021 को देश के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की ओर से E -Rupi की शुरवात की गई है। यह एक सरकारी सुविधा है। इसलिए हमें इसपर भरोसा करना चाइये यह बाकि के डिजिटल पेमेंट की तरह ही सुरक्षित है।

E-RUPI में निम्मनलिखित्त बैंक सम्मलित है।

दिनांक 02/08/2021 तक की इस्थ्ती में ई-रूपी के साथ भागीदार निम्न बैंक शामिल है – इंडस बैंक, इंडियन बैंक, कोटक बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियक बैंक ऑफ इण्डिया, एक्सेस बैंक, भारत पे, बैंक ऑफ बड़ोदा, केनरा बैंक, एच डी ऍफ़ बैंक, आई सी आई जैसे अन्य बैंक शामिल है।

यह भी पढ़े :

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *